Thursday, October 18, 2018

गोल्ड चेक करने का तरीका (हॉलमार्क गोल्ड की पहचान)

अगर आप कल्याण जेवेलर्स जैसी कंपनी से सोना खरीदते है तो आपको पूरी तरह से असली और शुद्ध सोना दिया जाता है। पर अगर आप किसी व्यक्ति से या अपने किसी लोकल एरिया के जेवेलर से सोना खरीद रहे है तो सोने की पहचान करना जरुरी होता है पता चलना चाहिए की सोना असली है या नकली। BIS हॉलमार्क द्वारा पता चल जाता है की सोना खरा है लेकिन फिर भी कुछ लोगो को हॉल मार्क गोल्ड की पहचान ठीक से नहीं होती।गोल्ड चेक करने का तरीका (हॉलमार्क गोल्ड की पहचान)
यहाँ हम कुछ बेहतरीन तरीके शेयर कर रहे है जिसे आप ख़रीदे हुए गोल्ड या सोने को घर पर ही चेक कर के पता लगा सकते है की सोना असली है या नहीं। वैसे तो अगर आप किसी विश्वासु कंपनी से सोना खरीदते है तो 100% Real Gold मिलता है पर यदि आप किसी के कहने पर सस्ते में सोना खरीदने की सोचते है और किसी भी सुनार से सोना खरीद लेते है तो सावचेत रहने की जरुरत है। एक बात बता दू की जो मार्किट प्राइस चल रहा है उससे सस्ता सोना आपको कोई भी नहीं दे सकता इसलिए कभी सस्ते सोने के चक्कर में मत पड़ना।

गोल्ड चेक करने का तरीका (गोल्ड की पहचान)

  1. चुंबक से सोने की पहचान : इसके लिए जरुरत है एक अच्छे चुंबक की, अगर आपके पास घर में चुंबक है तो बहुत अच्छी बात है और अगर नहीं है तो बाजार जा कर किसी दूकान से चुंबक ले आये। अब आपने जो सोना ख़रीदा है उसे चुंबक से चिपकाये अगर सोना चिपक जाता है तो नकली है और नहीं चिपकता तो असली है।
  2. पानी से गोल्ड चेक करे : एक गहरे बर्तन या बाल्टी में ऊपर तक पानी भर दीजिये। अब यह भरे हुए पानी में अपने सोने की ज्वेलरी को डाले। सोना तैर कर ऊपर आ जाता है तो नकली है और पानी में निचे ही रह जाता है तो असली है।
  3. दांतो से सोने की पहचान : सोना चेक करने का ये सबसे आसान तरीका है जिसे आप कही पर भी कर सकते है। सोने की ज्वेलरी को अपने दांतो के बिच धीरे से दबाये और देखे की अगर सोने में आपके दांतो के कुछ निशान पड़ते है तो सोना असली है और नहीं पड़ते तो सोना नकली है। सोना बहुत की नाजुक धातु होती है जिस वजह से उसमे दांतो के निशान पड़ जाते है। ज्वेलरी भी शुद्ध 24 कैरेट सोने की नहीं बनती उसमे भी कुछ अन्य धातु मिलायी जाती है क्यों की सोना शुद्ध सोना टूट सकता है।
  4. सिरामिक थाली से गोल्ड चेक करे : आपको बाजार जा कर एक सफ़ेद सिरामिक थाली खरीदनी है। फिर अपने सोने की ज्वेलरी को सिरामिक थाली में डाल कर थोड़ी घसीटनी है अगर सफ़ेद थाली में काले निशान आते है तो सोना असली नहीं है और सुनहरे निशान आते है तो सोना असली है।
सोने का परीक्षण करने के लिए और भी बहुत से तरीके है जैसे की एसिड से गोल्ड को चेक करना, ऊँचे तापमान पर गोल्ड को चेक करना लेकिन हम ऐसे तरीके बिलकुल भी नहीं बताते क्यों इन तरीको में पूरा खतरा है और आपका सोना भी बिगड़ सकता है। इसलिए मेरी माने तो आप ऊपर बताये गए आसान तरीको से ही गोल्ड को चेक करे।

हॉलमार्क गोल्ड की पहचान क्या है

  • जैसे की मैंने शुरुआत में कहा था आप जब भी सोना खरीदने की सोचे तो किसी अच्छे से जेवेलर के पास से ही सोना ख़रीदे, कभी सस्ते के चक्कर में लाखो का नुक्सान मत कर देना। किसी भी दूकान से सोना खरीदते वक़्त यह जरूर देखे की गहने पर BIS हॉलमार्क है की नहीं, ऊपर दिए गए स्क्रीनशॉट में देख सकते है की BIS हॉलमार्क कैसा होता है।
  • सोने की पहचान क्या है? सोने की पहचान यही है की आप उसपर लगे शुद्धता के निशानों को देखे और समझे। BIS हॉलमार्क के साथ कुछ और निशान भी होते है जैसे की, प्यूरिटी ऑफ़ गोल्ड, Jewellery Identification Mark.
  • असली हॉलमार्क पर भारतीय मानक ब्यूरो का तिकोना निशान होता है। उस पर हॉलमार्किंग सेंटर के लोगो के साथ सोने की शुद्धता भी लिखी होती है। उसी में ज्वैलरी निर्माण का वर्ष और उत्पादक का लोगो भी होता है।
आशा करता हु की आपको हमारी यह जानकारी पसंद आयी होगी। सोने से संबंधित किसी भी तरह के सवाल को आप कमेंट से पूछ सकते है। मिलते है अपनी नेक्स्ट पोस्ट में तब तक टेक केयर।

0 comments:

Note: Only a member of this blog may post a comment.