Sunday, November 11, 2018

चांदी का रेट क्या है कैसे जाने

चांदी का रेट रोज बदलता रहता है जिसके बारे में बहुत से लोग जानकारी रखना चाहते है ताकि चांदी का भाव जब सस्ता हो तब उसे ख़रीदा जा सके और भाव महंगा हो तो उसे अच्छे दामों में बेचा जा सके। चांदी की कही तरह की बनावट होती है जैसे की चांदी के गहने, चांदी की वस्तुए, चांदी के बर्तन और बहुत कुछ।चांदी का रेट क्या है कैसे जाने
इसी तरह चांदी को बहुत सी इलेक्ट्रॉनिक बनवटो में भी उपयोग किया जाता है। चांदी भी अपने गुण में कुछ सोने जैसा ही होता है। जिस तरह सोना लम्बे समाया तक चलता है और उसमे शुद्धि रहती है बिलकुल उसी तरह चांदी की बनावट भी अपना गुण जारी रखती है।

यह सब बाते बहुत से लोगो को पता है तो कुछ लोगो को नहीं पता इसलिए मैंने शुरुआत में ही बता दिया। अब बात करते है आप रोज हमारी वेबसाइट से चांदी के रेट के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में कैसे जान सकते है।

आज चांदी का रेट

  • अगर आप गूगल पर चांदी के रेट के बारे में सर्च करते है तो आपको बहुत सी सिल्वर रेट्स वेबसाइट मिल जाएगी लेकिन उनमे से 90% वेबसाइट में इंग्लिश में जानकारी दे रखी है। जब की हमारे बहुत से ऐसे लोग है जो इंग्लिश नहीं समझते या हिंदी में जानकारी पढ़ना पसंद करते है।
  • तो ऐसी लोगो को ध्यान में रखते हुए ही हमने सिल्वर रेट पेज बनाया है जहा से आप लाइव सिल्वर रेट देख सकते है। यानी की इंडियन मार्किट में जैसे ही सिल्वर रेट चेंज होगा उसके कुछ ही मिनट में हमारी वेबसाइट पर फ्रेश सिल्वर रेट अपडेट हो जायेगा।
  • चांदी का रेट ख़ास कर के किलोग्राम में देखा जाता है और साथ ही में जो लोग चांदी खरीदना चाहते है उनके बहुत से सवाल होते है तो हम आपके सभी तरह के सवाल में मदद करेंगे।

चांदी खरीदना है

  •   चांदी खरीदना है तो हम आपकी हेल्प करेंगे। ऐसा नहीं की आप चांदी खरीद रहे है और बिच में हमारा कोई कमीशन बन रहा है। आपको जहा से खरीदना है जैसे खरीदना खरीद सकते है बस हम आपको गाइड करेंगे की आप कैसे अच्छा सिल्वर खरीद सकते है।
  • क्यों की आज कल मार्किट में बहुत से फर्जी लोग घूम रहे है जो आपको लूट सकते है। और जहा तक मेरी कमाई की बात है तो में गूगल एड्स द्वारा पैसे कमा लेता हूँ। मुझे आपसे किसी भी तरह का कोई कमिशन लेने की जरुरत नहीं।
  • इस ब्लॉग पर सोने चांदी के बारे में बहुत सी अच्छी जानकारी शेयर की जाती है जिसे आप होमपेज पर जा कर पढ़ सकते है।
कोई भी सवाल हो तो हमें कमेंट से बताये और यदि आप हमसे डायरेक्ट कांटेक्ट करना चाहते है तो Contact Us पेज से अपना सवाल और नाम लिख कर मैसेज सेंड कर दीजिये। मिलते है अपनी नेक्स्ट पोस्ट में तब तक के लिए टेक केयर।

Monday, November 5, 2018

सोने का रेट क्या है कैसे जाने

दुनिया के किसी भी मार्किट में सोने का रेट रोज़ बदलता रहता है। सोने का भाव बदलना देश की आर्थिक निति और राजनैतिक हालचाल पर निर्भर होता है। खुद के पास सोना रखना या सोना खरीदना किसे पसंद नहीं होता। गोल्ड दुनिया की सबसे आकर्षक और महंगी धातुओं में से एक है।सोने का रेट क्या है कैसे जाने
जो भी हो हम आपके लिए बदलते सोने की रेट की जानकारी हिंदी में बताते है जो की लाइव है यानी की जैसे ही गोल्ड मार्किट में रेट बदलता है वैसे ही कुछ मिनट में हमारे पेज पर रेट बदल जाता है। यह रेट द्वारा आप हिंदी में समझ सकते है की अभी गोल्ड खरीदना आपके लिए उचित है या नहीं।

कही बार दिमाग में ख्याल आते है की सोना बनता कैसे होगा या सोना इतना महंगा क्यों होता है। तो इसके लिए हम बहुत सी इंटरेस्टिंग जानकारी शेयर करते रहते है जिसमे से कुछ जानकारी की पोस्ट लिंक निचे शेयर कर रहा हु।

आज सोने का रेट

  • गोल्ड रेट जानने के लिए अगर आप गूगल पर सर्च करते है तो आपको बहुत सी वेबसाइट की लिस्ट मिल जाएगी लेकिन उसमे से 90% वेबसाइट इंग्लिश में जानकारी दे रहे है।
  • हमारे देश में बहुत से लोग ऐसे है जो हिंदी में जानकारी पढ़ना पसंद करते है या फिर इंग्लिश समझने में दिक्कत होती है तो मैंने ख़ास कर ऐसे लोगो के लिए ही सोने का रेट पेज बनाया है।
  • यह गोल्ड रेट पेज द्वारा आप आसानी से सोने के भाव को लाइव देख सकते है। और साथ ही में आपके माइंड में जो भी सवाल चल रहे है सभी का जवाब पा सकते है।
  • जैसे की 10 ग्राम सोने की कीमत कितनी है, सोना कितने रुपये तोला है, सोना कैसे और कहा से खरीदना है और बहुत कुछ।

हम आपकी क्या सहायता करेंगे

  • सोना खरदीना एक बड़ा निर्णय होता है तो इस बड़े निर्मय में आपके साथ कुछ गलत ना हो इसलिए हम आपकी पूरी सहायता करेंगे।
  • ऐसा नहीं की मुझे कोई कमिशन चाहिए और में बता रहा हु भाई इस दूकान से या ऑनलाइन गोल्ड खरीद लीजिये। में कुछ नहीं कहने वाला आपको जहा से सोना खरीदना है ख़रीदये हम बस आपको गाइड करेंगे।
  • गाइड में बहुत कुछ होता है जैसे की असली सोने की पहचान कैसे करनी है, गोल्ड को चेक कैसे करना है और सबसे अच्छी गुणवत्ता वाला सोना कैसे खरीदना है।
  • तो अब आप समझ गए होंगे की कसी तरह से हम आपकी हेल्प करने के बात कर रहे है। यदि आप हमसे पर्सनल में बात करना चाहे तो कांटेक्ट पेज से मैसेज कर के भी बता सकते है।
उम्मीद करता हु में आपको अच्छी तरह से जानकारी समझाने में सफल रहा हु। गोल्ड का कोई भी सवाल हो तो हमें कमेंट से बताये हम जवाब जरूर देंगे। इसी के साथ पोस्ट को ख़तम करते है और मिलते है अपनी नेक्स्ट पोस्ट में तब तक के लिए टेक केयर।

Tuesday, October 30, 2018

दुनिया की सबसे महंगी सोने की कार (कीमत 502 करोड़)

आपने आज तक कही महंगी कार के बारे में सुना होगा लेकिन आज जो में कार की बात करने वाला हु उसकी कीमत जान कर आपके होश उड़ जायेगे। इस कार को दुबई जैसे अमीर देश में बनाया गया। वैसे तो दुबई में पैसे वाले लोगो की कमी नहीं है, ज्यादातर लोग दुबई की सड़को पर महंगी-महंगी कार चलाते है। दुबई की पुलिस भी करोड़ो की कीमत वाली लेम्बोर्गिनी कार में चलती है।

जर्मनी बेस कंपनी लेम्बोर्गिनी ने एक कार बनायीं जो 500 किलो सोने से बनी थी। सोने से बनी इस कार की कीमत 1500 BMW Cars के बराबर है। BMW Series 1 कार की कीमत 30 लाख रुपये होती है वही इस सोने की कार की कीमत 502 करोड़ रुपये होती है।

दुबई की सोने की कार

दुनिया की सबसे महंगी सोने की कार (कीमत 502 करोड़)
  • सब जानते है दुबई अमीरो का देश है जहा शेखो के पास पैसो की कमी नहीं होती। दुबई के अमीरी लोगो के शोख भी अजीब अजीब होते है। गाडी में चित्ता पालते है, महंगे घर खरीदते है तो कुछ लोग तो सोने की कार खरीद लेते है।
  • यहाँ हम एक एक पैसा बचा कर कही अच्छी जगह पर इन्वेस्ट करने के बारे में सोचते है और वहा महंगी महंगी चीज़े खरीदने के बारे में सोचते है।
  • दुनिया की सबसे महंगी कार की विशेषता के बारे में बात करे तो इसमें सिर्फ सोना ही नहीं है बल्कि इसे पूरी तरह आधुनिक तकनीक से बनाया गया है। जैसे यह कार फुल बुलेट प्रूफ होने की वजह से किसी भी तरह के हमले को झेल सकती है।
  • कार स्पीड की बात करे तो 2 मिनट के अंदर 100 km की गति हासिल कर लेती है। फिलहाल इस कार की चर्चा लोगो की जुबां पर है और सोशल मीडिया पर इस कार का वीडियो खूब वायरल हो रहा है।
  • Lamborghini Aventadoor LP 700-4 नाम की इस कार तैयार करने के लिए कार्बन फाइबर का यूज़ किया गया है जिस पर सोने की परत चढ़ाई गयी है।
  • यह दुनिया की सबसे महंगी कार ही नहीं बल्कि सबसे सुरक्षित कार भी है क्यों की इसमें bullet proof window security और हर तरह की luxurious facility दी गयी है।

इंडिया में सोने की कार

दुनिया की सबसे महंगी सोने की कार (कीमत 502 करोड़)
  • आज से कुछ महीनो पहले एक न्यूज़ ऐसी भी आयी थी की यह कार हमारे इंडियन बिज़नेस मेंन मुकेश अम्बानी अपनी पुत्र वधु को गिफ्ट कर रहे है। लेकिन बाद में कुछ पता नहीं चला की यह कार इंडिया में आयी भी या नहीं, खबर सिर्फ एक खबर बन कर रह गयी।
  • आज से कुछ साल पहले टाटा ने अपनी सबसे सस्ती कार लॉन्च की थी जिसका नाम था Tata Nano ! उस वक़्त नैनो कार का मार्केटिंग करने के लिए कंपनी ने नैनो कार को सोने की परत चढ़ा कर बनाया था।
  • कार में 80 kg का सोना यूज़ किया गया था और 15 kg का सिल्वर जिसकी पूरी कीमत 22 करोड़ रुपये लगायी गयी थी। तो इसे दुनिया की तो नहीं पर इंडिया की सबसे महंगी कार जरूर कह सकते है।

उम्मीद करता हु आपको हमारी जानकारी पसंद आयी होगी। मिलते है अपनी नेक्स्ट पोस्ट में तब तक टेक केयर।

Sunday, October 28, 2018

भारतीय मानक ब्यूरो क्या है पूरी जानकारी

भारतीय मानक ब्यूरो क्या है BIS (Bureau of indian standards) की पूरी जानकारी। हमारे ब्लॉग सोने के भाव में हमने गोल्ड के बारे में बहुत सी जानकारी दी। जिसमे पिछली कुछ पोस्ट में हॉलमार्क गोल्ड की पहचान कैसे करनी है और गोल्ड चेक करने के तरीको के बारे में बताया था। जिसमे हमने बताया था की हॉलमार्क गोल्ड का पूरा काम भारतीय मानक ब्यूरो द्वारा किया जाता है। तो आज की पोस्ट में हम BIS के बारे में ही बात करने वाले है।भारतीय मानक ब्यूरो क्या है पूरी जानकारी

भारतीय मानक ब्यूरो क्या है

  • 1947 की आज़ादी के बाद भारत में बहुत से नियमो की रचना की गयी थी जिसमे से एक थे भारतीय उत्पादकों के नियम। यह नियम द्वारा भारतीय मानक ब्यूरो उत्पादकों का माननीकरण, गुणवत्ता चेक किया जाता था।
  • यानी की अगर किसी कंपनी ने कोई उत्पाद (product) बनाया है तो सबसे पहले उसे BIS द्वारा चेक किया जाता था। अगर BIS को सब ठीक लगे तो वह प्रोडक्ट को एक वेरीफाई प्रोडक्ट का चिन्ह देता।
  • इसी तरह भारतीय मानक ब्यूरो का विकास होता गया और 1987 में यह पूरी तरह से कार्यरत हो गया जिसमे सोने को चेक करने का नियम भी आ गया था जिसे कोई ग्राहक को लूट ना सके।

BIS कैसे काम करता है

  • गोल्ड बिज़नेस में कुछ BIS Verified व्यापारी होते है जो अपने प्रोडक्ट को BIS के पास ले जा कर उनसे चेक करवाके हॉलमार्किंग के 5 निशान पा लेते है। यह 5 हॉलमार्क निशान आ जाने के बाद कोई भी ग्राहक सोने को पुरे विश्वास के साथ खरीद सकता है क्यों की इसे भारतीय मानक ब्यूरो ने verified किया होता है।
  • BIS के कुछ नियम होते है जिनको पढ़ कर जेवेलर उनके पास आता है खुद को उन नियमो द्वारा verified करवाता है और फिर वह अपने प्रोडक्ट को भी वेरीफाई करवा लेता है।
  • इस तरह BIS को कही जाना नहीं पड़ता, जिसको भी अपना बिज़नेस बड़ा करना है वह सारे जेवेलर ईमानदारी से BIS के पास आ जाते है और अपने वेरिफिकेशन करवा लेते है।
  • अगर आप सोना खरीद रहे हो और हॉलमार्क गोल्ड की पहचान करना चाहते है तो यह पोस्ट पढ़ सकते है - हॉलमार्क गोल्ड की पहचान कैसे करे !

भारतीय मानक ब्यूरो चिन्हो की जानकारी

ऐसा नहीं की भारतीय मानक ब्यूरो सिर्फ गोल्ड वेरिफिकेशन के लिए काम करता है इसमें और भी दूसरे वेरिफिकेशन के काम और उनके निर्धारित चिन्ह है जिनकी जानकारी निचे शेयर कर रहा हु।
  1. आईएसआई चिन्ह (ISI) : इसका उपयोग औद्योगिक उत्पादों पर किया जाता है.
  2. एफपीओ चिन्ह (FPO) : इसका उपयोग भारत में प्रसंस्कृत सभी फल उत्पादों पर किया जाता है. यह प्रमाणित करंता है की उत्पाद स्वच्छ “खाद्य- सुरक्षित’ वातावरण में विनिर्मित किया गया है.
  3. एगमार्क (Agmark) : इसका उपयोग सभी खाद्य कृषि उत्पादों पर किया जाता है.
  4. भारत स्टेंज (II, III, IV चिन्ह) : इसका उपयोग भारत स्टेज उत्सर्जन के अनुसार विनिर्मित ऑटोमोबाइल वहनों पर यह प्रमाणित करने के लिए लगाया जाता है की यह वाहन इस सीमा तक प्रदुषण नही फैलता है.
  5. बीआईएस हॉलमार्क : इसका उपयोग स्वर्ण आभूषणों की परिशुद्धता को प्रमाणित करता है.
  6. इण्डिया आर्गेनिक : इस का उपयोग ऐसे कृषि खाद्य उत्पादों को प्रमाणित करने के लिए किया जाता है जो ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स 2000 के मानको के अनुसार उत्पादित किये जाते है.
  7. ईकोमार्क (Eco Mark) : भारतीय मानक ब्यूरो द्वारा ऐसे उत्पादों को दिया जाता है जो प्रदूष्ण मुक्त है या वातावरण को प्रदूषित नही करते है।
आशा करता हु की इस पोस्ट के द्वारा आपको भारतीय मानक ब्यूरो की पूरी जानकारी मिल गयी होगी। मिलते है अपनी नेक्स्ट पोस्ट में तब तक टेक केयर।

Saturday, October 27, 2018

हॉलमार्क गोल्ड की पहचान कैसे करे

हॉलमार्क गोल्ड क्या होता है और हॉलमार्क गोल्ड की पहचान कैसे करे। किसी भी व्यक्ति की लाइफ में सोना खरीदना मतलब सबसे बड़ा इन्वेस्टमेंट होता है और इस बड़े इन्वेस्टमेंट में ही कोई धोखा दे जाए तो कैसा लगेगा। इसी बात को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने 1986 में भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) की रचना की। BIS के बताये गए नियम अनुसार किसी भी व्यक्ति को हॉलमार्क गोल्ड ही खरीदना चाहिए।हॉलमार्क गोल्ड की पहचान कैसे करे
सोना खरीदते वक़्त बहुत सोचना पड़ता है की सोना कितना असली है, इसमें शुद्धता कितनी होगी तो यह सब समस्या ना हो इसलिए हॉलमार्क गोल्ड की निशानी देखनी चाहिए। हॉलमार्क गोल्ड की 5 निशानी होती है यह 5 चिन्ह BIS द्वारा verified होते है जिसकी सरकार गरंटी देता है। ऐसे सोने को अगर आप मार्किट में बेचने भी जायेगे तो आपको सही दाम मिलेंगे। तो आइये जानते है हॉलमार्क गोल्ड की पहचान क्या है।

हॉलमार्क गोल्ड क्या है

  • अगर आप यह सोच रहे हो की हॉलमार्क सोने का क्या फायदा है तो दोस्तों हॉलमार्क गोल्ड का सबसे बड़ा फायदा यह है की आपको आसानी से पता चल जाता है की सोना असली है या नकली जिस वजह से आपके पैसे सही जगह पर इन्वेस्ट होते है।
  • एक सवाल और भी है की क्या कोई भी ज्वेलर गोल्ड उत्पादकों पर हॉलमार्क प्राप्त कर सकता है? तो दोस्तों कोई भी नहीं कर सकता केवल सर्टिफाइड ज्वेलर ही BIS सेंटर उत्पादकों पर हॉलमार्किंग करवा सकते है।
  • किसी भी गहने पर हॉलमार्किंग का काम सम्पूर्ण होने के बाद निचे स्क्रीनशॉट में बताये अनुसार उस पर 5 चिन्ह आ जाते है जो बताते है की सोना असली है।

हॉलमार्क गोल्ड की पहचान

हॉलमार्क गोल्ड की पहचान कैसे करे
  1. BIS Logo : सबसे पहले आपको BIS का लोगो देखना है। अगर ज्वेलरी छोटी है तो ज्वेलर के पास से बिलोरी ग्लास ले कर चिन्हो को देखे।
  2. Gold Fineness : हर गोल्ड ज्वेलरी पर BIS द्वारा fineness नंबर दिया होता है जिसे पता चलता है की सोने की शुद्धता कितनी है। यहाँ आपको 24 कैरेट या 22 कैरेट जैसे नंबर देखने को मिलेंगे।
  3. Hallmarking Center : सभी वेरिफ़िएड जेवेलर को वेरिफिकेशन के बाद हॉलमार्किंग सेंटर का लोगो मिलता है जो गहने पर होता है।
  4. Jewellery Identification : ज्वेलरी आइडेंटिफिकेशन मार्क ज्वेलर के शॉप का होता है सो उसे भी एक बार चेक कर लीजिये।
  5. Year Of Marking : लास्ट में year of marking का निशान होता है जिसे पता चलता है की यह सोना कोनसे साल में बनाया गया है।
सोना खरीदने के बाद मन में सवाल रहता है की कैसे चेक करे सोना असली है या नकली तो दोस्तों इस समस्या को ध्यान में रखते हुए हमने एक पोस्ट लिखी है जिसमे गोल्ड चेक करने के तरीको के बारे में बताया गया है यहाँ पढ़े !
तो दोस्तों ऊपर बताये गए 5 पॉइंट से हॉलमार्क गोल्ड की पहचान होती है। आप सिंपल ऊपर दिए गए स्क्रीनशॉट में देख कर भी समझ सकते है की हॉलमार्क गोल्ड की क्या क्या निशानी होती है। तो मिलते है अपनी नेक्स्ट पोस्ट में तब तक टेक केयर।

Thursday, October 25, 2018

सोने की खोज किसने की थी

आज सोना सबसे कीमती धातुओं में से एक है जिसका महत्त्व सोना महंगा क्यों होता है पोस्ट में बताया था। जितना सोना अनोखा है उसे कही ज्यादा सोने का इतिहास अनोखा है। कहा जाता है की सोना आज से लाखो साल पहले से यूज़ किया जाता है, जब पृथ्वी पर देव बस्ते थे तब से सोना कार्यरत है। अगर आपसे पूछा जाए की बताओ पहली बार सोना कब मिला था सोने का अविष्कार कैसे हुआ था तो आप थोड़ा सोच कर बताओगे की यह आदिकाल में आदिमानव के द्वारा ही खोजा गया होगा।सोने की खोज किसने की थी
बात सही है की आदिकाल में मनुष्य ने कही महत्वपूर्ण खोजो को अंजाम दिया है लेकिन सोने को पहली बार किसने देखा इसका कोई परफेक्ट प्रूफ नहीं है बस एक मान्यता के अनुसार बताया जाता है की सोने की खोज 1848 में जेम्स मार्शल द्वारा कैलिफ़ोर्निया में हुई थी। तो आइये जानते है सोने की खोज के बारे में शोधकर्ता क्या बता रहे है।

सोने की खोज का इतिहास

  • सोने की खोज को लेकर पूरी दुनिया में एक कहानी सबसे ज्यादा प्रचलित है जो सोने की खोज और इतिहास के बारे में बताती है। कहानी कुछ इस तरह है !
  • हजारो साल पहले एक छोटे बच्चे को जंगल में घूमने के दौरान एक चट्टान दिखाई देता है जिसमे वह पिली और चमकदार धातु को देखता है जो बच्चे को आकर्षित करती है।
  • बच्चा वह चमकदार सोने तक पहुंच नहीं पा रहा था इसलिए उसने अपनी बस्ती में जा कर दूसरे लोगो से बात की, कुछ लोग बच्चे के साथ में वह चट्टान तक आये और वह लोग भी सोने को देख कर दंग रह गए क्यों की आज से पहले इतनी चमकदार धातु उन्होंने कभी देखि नहीं थी।
  • लोगो ने मिलकर उस धातु के टुकड़ो को बहार निकाला और उसको तोड़ कर अलग अलग आकर देने लगे साथ ही में उन आकर धारी सोने के टुकड़ो का वह अपने गले में या हाथ में पहनते। तो हमारा सबसे पहला सोने का आभूषण कुछ इस तरह बना था।
  • उसके बाद में आदिमानव प्रगति करते गए और एक सभ्यता बनी जिसमे राजा और प्रजा थी। सभ्यता के बाद सोने का महत्व देखते हुए धीरे धीरे उसे सही उपयोग में लाया गया। सोने के आभूषण बनने लगे, इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट में सोना यूज़ होने लगा, पहले के ज़माने में राजा या पैसा दार व्यक्ति सोने की इमारत भी बनाता।
  • तो कुछ इस तरह से सोने की खोज हुयी और आज सोने का क्या महत्व है वह तो आपको पता ही होगा। पहले की तरह आज सोना आसानी से नहीं मिलता सोना निकालने की प्रक्रिया महंगी हो गयी है जो इस पोस्ट में बताया है : सोना कैसे बनता है !
सोने के बारे में और कोई जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट से बताये। मिलते है अपनी नेक्स्ट पोस्ट में तब तक टेक केयर।